इस हफ्ते कैसी रहेगी शेयर बाजार की चाल, जानें एक्सपर्ट की राय

मई के दूसरे हफ्ते में शेयर बाजार की चाल कैसी रहेगी, इस पर जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज, मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज और सैमको सिक्योरिटीज के एक्सपर्ट बता रहे हैं। ये विशेषज्ञ यह भी बता रहे हैं कि इस हफ्ते कोविड-19 संक्रमण की स्थिति, कंपनियों के वित्तीय परिणाम और औद्योगिक उत्पादन समेत वृहत आर्थिक आंकड़े बाजार की चाल तय करेंगे। इसके अलावा वैश्विक प्रवृत्ति और रुपये में उतार-चढ़ाव का भी बाजार धारणा पर असर पड़ेगा। बता दें इस सप्ताह अवकाश के कारण बाजार में चार दिन ही कारोबार होगा। घरेलू शेयर बाजार बृहस्पतिवार को ईद-उल-फित्र के मौके पर बंद रहेंगे।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज की राय

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ”इस सप्ताह बाजार की प्रवृत्ति कोविड संक्रमण के मामलों की संख्या, कंपनियों के तिमाही परिणाम, मार्च महीने के औद्योगिक उत्पादन तथा अप्रैल महीने के मुद्रास्फीति के आंकड़े से निर्धारित होगी। इस सप्ताह एशियन पेंट्स, जिंदल स्टील एंड पावर लि., लुपिन, वेदांता, सिप्ला और डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज के वित्तीय परिणामों पर निवेशकों की नजर होगी।

मोतीलाल ओसवाल का ये है अनुमान

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लि. के प्रमुख (खुदरा शोध) सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ”ऐसा लगता है निवेशकों ने अपने आकलन में कोविड मामलों को ध्यान में रखा है और फिलहाल वे इसके अल्पकालीन प्रभाव से अलग देख रहे हैं। हालांकि महामारी को लेकर जोखिम लंबी अवधि तक रहने वाला है और इसकी रोकथाम के लिये विभिन्न राज्यों में ‘लॉकडाउन और अन्य पाबंदियां फिलहाल हटती नहीं दिख रही इससे बाजार में तेजी पर अंकुश लग रहा है। उन्होंने कहा, ”अत: आने वाले समय में बाजार उतार-चढ़ाव के साथ सीमित दायरे में रह सकता है। आने वाले दिनों में कोविड-19 मामलों की संख्या और टीकाकरण की गति आर्थिक पुनरूद्धार की तेजी को तय करेंगी।

Also Read :  Stock market news in hindi 24feb2021

विश्लेषकों के अनुसार ब्रेंट क्रूड में उतार-चढ़ाव, रुपये की प्रवृत्ति और विदेशी संस्थागत निवेशको के निवेश का प्रतिरूप भी बाजार धारणा को प्रभावित करेगा। कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर और उसका अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव के बीच विदेशी निवेशक इस साल अप्रैल से इक्विटी बाजार में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं। डिपोजिटरी के आंकड़े के अनुसार एफपीआई (विदेशी संस्थागत निवेशक) ने अप्रैल में शुद्ध रूप से 9,659 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे जबकि मई के पहले सप्ताह में 5,936 करोड़ रुपये की बिकवाली की।

सैमको सिक्योरिटीज की रायसैमको सिक्योरिटीज की इक्विटी प्रमुख निराली शाह ने कहा, ”इस सप्ताह अवकाश के कारण कारोबारी दिवस कम होंगे। लेकिन बाजार के लिये मजबूती से आगे बढ़ने को लेकर कठिनाई बनी हुई है और यह उतार-चढ़ाव के साथ सीमित दायरे में रह सकता है। इस सप्ताह औद्योगिक उत्पादन, मुद्रास्फीति और विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादन के आंकड़े आने की संभावना है। इसका भी बाजार पर असर देखने को मिल सकता है।

पिछले सप्ताह, तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 424.11 अंक यानी 0.86 प्रतिशत मजबूत हुआ। स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़े के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,03,738 नए मामले सामने आने के बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,22,96,414 हो गई। वहीं 4,092 और मरीजों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,42,362 हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: